खेल जगत

“ये सब छोड़ो ऋषभ पंत को बनाओ भारतीय टीम का अगला कप्तान” पंत के पक्ष में आए महेन्द्र सिंह धोनी

भारत और इंग्लैंड के बीच बचा हुआ अखरी टेस्ट शुरू होने से पहले इंग्लैंड टीम की खूब चर्चा थी। अंग्रेजों ने न्यूजीलैंड को 3-0 से क्लीन स्वीप किया था। नए कप्तान बेन स्टोक्स और नए कोच ब्रैंडन मैकुलम की तारीफ हो रही थी कि उन्होंने इंग्लैंड की टीम को खूंखार और आक्रामक बना दिया। जब मैच शुरू हुआ तब बर्मिंघम टेस्ट के पहले कुछ घंटे तो लगा कि वाकई इंग्लैंड की टीम अब बेरहम हो गई है। क्या शानदार बॉलिंग, क्या तगड़ा एटिट्यूड।

जब 28 ओवर भी नहीं हुए और भारत की आधी टीम पवेलियन में थी और 5 विकेट को दिए थे और भारतीय टीम को और दुनिया को यहीलगा कहीं 125-150 जाते-जाते ऑलआउट न हो जाए। लेकिन भारतीय टीम का पासा तब पलटा जब 5 विकेट के बाद आए भारतीय टीम के विकेट कीपर बल्लेबाज और मिनी धोनी कहलाने वाले ऋषभ पंत।

ऋषभ पंत अगले करीब 3 घंटे बल्ले के साथ ऐसा विकराल रूप दिखलाया कि हवा में उड़ रहे अंग्रेज जमीन पर धड़ाम हो गए। कप्तान बेन स्टोक्स बार-बार ऐसे मुंह छुपा रहे थे और ऋषभ पंत ने अंग्रेजो के सपने को चूर चूर कर दिया था। और इसी के साथ ऋषभ ने इस पारी में महेंद्र सिंह धोनी का 17 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। उन्होंने भारतीय विकेटकीपर के तौर पर टेस्ट क्रिकेट में अब तक की सबसे तेज सेंचुरी लगाई।

ऋषभ पंत का यह अवतार देख कही दिग्गज का मानना है की ऋषभ पंत भारतीय टीम का अगला कैप्टन घोषित कर देना चाहिए। ऋषभ पंत ने किया भी कुछ ऐसा ही था। 51 गेंद पर हाफ सेंचुरी पूरी की। 89 गेंदों पर शतक पूरा कर लिया। इंग्लैंड की जमीन पर दूसरा शतक। जब आउट हुए तब उनके नाम 111 गेंद पर 146 रन थे। 19 चौके और 4 छक्के।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button