दुनियासमाचार

सुरेश रैना ने बता दी चेन्नई सुपर किंग्स की सारी योजना, यही बनेगा चेन्नई का अगला कप्तान

सुरेश रैना इस बार आईपीएल में एक खास रोल में नजर आने वाले हैं। इस बार किसी भी टीम ने रैना को नहीं ख़रीदा इसलिए वो आईपीएल नहीं खेलेंगे। लेकिन रैना आईपीएल में इस बार अलग रोल निभाने वाले हैं इस बार रैना बल्ले की जगह हाथ में माइक थामें कमेंट्री करते नजर आयेंगे। रैना लंबे समय तक चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेले और बल्ले से टीम के लिए महत्तवपूर्ण योगदान किया।

अब तक 2008 से 2021 के बीच जितने आईपीएल हुए उन सभी में महेंद्र सिंह धोनी ही CSK के कप्तान रहे हैं। आपको याद ही होगा 2019 वर्ल्ड कप के बाद धोनी ने इंटरनैशनल क्रिकेट से सन्यास ले लिया था और माना जा रहा है कि इस आईपीएल के बाद या फिर आने वाले एक-दो साल में वह प्रोफेशनल क्रिकेट से भी संन्यास ले लेंगे।

जिसके मद्देनजर रैना ने ऐसे 4 खिलाड़ी के नाम बताए है, जो आने वाले समय में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान बन सकते हैं। स्टार स्पोर्ट्स से खास बातचीत के दौरान रैना ने कहा, ‘उन्हें लगता है कि रविंद्र जडेजा, अंबाती रायुडू, रॉबिन उथप्पा और ड्वेन ब्रावो टीम में सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं और इस चारों मे से कोई एक खिलाड़ी आने वाले समय में टीम की कप्तानी कर सकता हैं।

ये काफी समय से धोनी के साथ टीम से जुड़े हुए हैं और सभी काबिल हैं और गेम को अच्छी तरह समझते हैं। इसलिए मुझे लगता है इन्हीं मे से कोई एक चेन्नई सुपर किंग्स के लिए आने वाले समय में कप्तान की भूमिका निभाएगा।’

आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स और सुरेश रैना के सभी रास्ते अलग अलग हो चुके है। सुरेश रैना को आईपीएल में नया किरदार भी मिल चुका है। इस साल आईपीएल में सुरेश रैना और रवि शास्त्री कमेंट्री करते नजर आएंगे। लेकिन सबसे चौकाने वाली बात ये है की सुरेश रैना को सीएसके ने नीलामी में खरीदना ठीक नही समझा। किसी भी टीम ने उन पर बोली भी नही लगाई और यही सुरेश रैना के लिए सबसे दुख की बात थी।

सुरेश रैना टीम के साथ भले ही ना हो लेकिन उसके बावजूद भी रैना चेन्नई टीम से जुड़े रहना चाहते हैं और बार-बार टीम के ऑफिशियल अकाउंट या साथी खिलाड़ी के अकाउंट से जुड़े पोस्ट पर अपना कमेंट डाल रहे हैं। चेन्नई सुपर किंग्स ने सुरेश रैना को नया नाम दिया था। और साथ ही धोनी को भी। धोनी थाला और सुरेश रैना चिन्ना थाला का नया नाम दिया था। सभी चेन्नई सुपर किंग्स के फैंस और दूसरे फैंस को भी धोनी रैना को साथ में देखने की एक बड़ी इच्छा थी।

दरअसल चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ी रोबिन उथप्पा ने एक पोस्ट डाला था उस पोस्ट में सुरेश रैना ने अपनी सुभकमनाएं दी थी। और रोबिन उथप्पा ने भी उनका आभार व्यक्त किया था। यह साफ जाहिर करता है की सुरेश रैना के के लिए चेन्नई सुपर किंग्स एक टीम नही एक परिवार था।

रैना ने कहा था कि अगर धोनी भाई अगला सीजन नहीं खेलते हैं, तो मैं भी नहीं खेलूंगा। मैं 2008 से उनके साथ ही खेलता आ रहा हूं और साथी ही लीग को छोड़ूंगा। अगर CSK मौजूदा सीजन जीत जाती है, तो मैं उनसे टीम के साथ बने रहने को कहूंगा। इससे पहले दोनों ने इंटरनेशनल क्रिकेट से भी साथ-साथ ही संन्यास लिया था। ये बयान एक साल पुराना है जब सुरेश रैना ने ये बात कही थी लेकिन उसके बाद सब उल्टा हो गया था।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर मैदान पर हमेशा एक आक्रामक खिलाड़ी के रूप में जाने जाते थे। उनकी इस आक्रमक शैली की वजह से ही उनके काफी फैन्स हैं। गंभीर किसी भी परिस्थिति में पीछे हटने वाले खिलाड़ी नहीं थे ।

हाल ही में जतिन सप्रू के यूट्यूब चैनल पर गौतम गंभीर ने एक खुलासा किया कि वो उनका रवैया बचपन से आक्रमक रहा है और इसी रवैय्ये के चलते स्कूल में उनके झगड़े होते थे। दरअसल, आईपीएल में कप्तानी करते हुए कोलकाता नाइट राइडर्स को 2 बार विजेता बनाने वाले गंभीर ने यह भी खुलासा किया कि अपने इस व्यवहार के चलते उन्हें 12वीं कक्षा में दो महीने के लिए निलंबित कर दिया गया था।

गंभीर ने यह भी बताया,”मुझे जल्दी गुस्सा आ जाता है और इसी कारण स्कूल में मैंने बहुत सारे झगड़े किए हैं….जब मैं 12वीं कक्षा में था और मैं रणजी ट्रॉफी भी खेल रहा था – मुझे स्कूल से दो महीने के लिए निलंबित कर दिया गया था। उस निलंबन के बाद मैं सीधे बोर्ड परीक्षा में बैठ गया। दरअसल हम मेयो कॉलेज गए थे और वहां हम सभी आईटीएससी टूर्नामेंट खेल रहे थे और मेरा वहां पर डीपीएस के साथ झगड़ा हो गया इसके चलते मुझे 2 माह का निलंबन सहना पड़ा। ”

गौतम गंभीर आक्रमक होने के साथ ही साथ भारत के सर्वश्रेष्ठ ओपनर बल्लेबाज थे उन्होंने भारत को अकेले दम पर काफी मैच जिताए है, 2011 वर्ल्ड कप के फाइनल में भी उनकी वो 97 रनों की महत्वपूर्ण पारी की बदोलत भारत 28 सालों के लंबे इंतजार के बाद वर्ल्ड कप जीत पाया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button